हाइब्रिड म्यूचुअल फंड क्या हैं - What are Hybrid Funds 2022 in Hindi

म्यूच्यूअल फण्ड की बहुत सारे केटेगरी मे से एक बहुति पॉपुलर केटेगरी है Hybrid Fund। जिन निवेशको को equity fund के मुकाबले कम रिस्क लेना है और डेब्ट फण्ड से ज्यादा return प्राप्त करना है उनके लिए हाइब्रिड फण्ड सबसे बढ़िया माना जाता है। 

इस आर्टिकल के जरिये मे आपको हाइब्रिड म्यूचुअल फंड क्या हैं, हाइब्रिड म्यूचुअल फंड कैसे काम करते है, हाइब्रिड फण्ड कितने टाइप के होते है, हाइब्रिड म्यूचुअल फंड के फयदे क्या है इन सबके बारे मे डिटेल मे बात करेंगे और साथ मे ये भी चर्चा करेंगे किसके लिए कोनसा हाइब्रिड फण्ड ठीक रहेगा। तो चलिए इन सब पॉइंट को एक एक करके समझने की कोसिस करते है।  

हाइब्रिड म्यूचुअल फंड क्या हैं


हाइब्रिड म्यूचुअ फंड क्या हैं

हाइब्रिड म्युचुअल फंड वो फण्ड होता है जिनमे एक ही साथ इक्विटी और डेट इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करने का मौका मिलता है। इन्हें संतुलित मतलब बैलेंस फण्ड भी कहा जाता है। हाइब्रिड फंड म्यूच्यूअल फंड की एक ऐसेट क्लास बेस्ड कैटिगरी होती है। 

वैसे तो म्यूच्यूअल फंड की कोई सारी category होती है इसके कुछ मुख्य केटेगरी की बात करें तो वह है इक्विटी फंड, डेब्ट फण्ड और हाइब्रिड फंड। यह तीन होई एसेट क्लास बेस्ट फण्ड होते हैं। हाइब्रिड फंड को समझने के लिए आपको इक्विटी और डेट फंड को समझना बहुत जरूरी है। 

हाइब्रिड म्युचुअल फंड को इक्विटी और डेट म्यूच्यूअल फण्ड की मिश्रण कह सकते हैं। इसमें आपका पैसा दोनों ही जगह यानी इक्विटी और डेट फण्ड में थोड़ा-थोड़ा इन्वेस्ट किया जाता है। इस प्लान को खासतौर पर शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट करने वालों के लिए बनाए गए हैं साथ ही इसमें रिक्स को भी बैलेंस करने का प्रयास किया गया है। 

हाइब्रिड म्युचुअल फंड एक से ज्यादा एसेट बेस्ट फंड में पैसा इन्वेस्ट करते हैं। इसमें इक्विटी और डेट एसेट क्लास बेस्ड फण्ड होते हैं कोई बार यह स्कीम गोल्ड में भी पैसा लगता है। वैसे देखा जाए तो इनके इन्वेस्टमेंट काफी डायवर्सिफाई होते हैं, हाइब्रिड फंड को समझने से पहले आपको म्यूच्यूअल फण्ड को अच्छे से समझना जरूरी है। 

हाइब्रिड म्यूचुअल फंड कैसे काम करते है

जैसा कि आपको पता है हाइब्रिड फंड इक्विटी और डेट का मिश्रण होता है। हम आपको बता दें कि इक्विटी फंड का पैसा कंपनी के स्टॉक और शेयर में इन्वेस्ट किया जाता है वही डेट फंड का पैसा गवर्नमेंट बॉन्ड, कॉरपोरेट बॉन्ड, मनी मार्केट, सिक्योरिटी में इन्वेस्ट किया जाता है। 

तो हाइब्रिड म्युचुअल फंड का पैसा शेयर मार्केट यानी कंपनी के शेयर में भी, गवर्नमेंट बांड में भी, कॉरपोरेट बांड में भी, मानी मार्केट में भी इन सभी में थोड़ा थोड़ा अलग अलग जगह इन्वेस्ट किया जाता है। 

इस तरह से इस फंड में रिस्क और रिटर्न को बैलेंस करने की प्रयास किया गया है हाइब्रिड फंड डेट फंड से थोड़ा ज्यादा रिस्की होता है और इक्विटी फंड से थोड़ा कम रिस्की होता है। 

types of hybrid funds

SEBI ने हाइब्रिड फण्ड को 6 केटेगरी मे define की है। 

aggressive hybrid fund:- म्यूच्यूअल फंड की इस category में 65-80% इक्विटी फंड में इन्वेस्टमेंट किया जाता है वही 20-35%  इन्वेस्टमेंट डेट फण्ड में किया जाता है। 

balanced hybrid fund:- अपनी कुल एसेट का लगभग 40 से 60% इक्विटी या डेट इंस्ट्रूमेंट में इन्वेस्ट करते हैं ये स्कीम arbitrage में निवेश नहीं करती है। 

balanced advantage fund & dynamic asset allocation:- म्यूच्यूअल फंड की यह स्कीम कूल इन्वेस्टमेंट का 100% equity या डेट में इन्वेस्ट कर सकते हैं। यह अपनी इन्वेस्टमेंट का मैनेजमेंट डाइनेमिक तरीके से करते है। 

multi asset allocation fund:- म्यूच्यूअल फंड की इस कैटेगरी में इक्विटी, डेट, गोल्ड इन तीनों तरह की ऐसेट क्लास में इन्वेस्ट किया जा सकते हैं। इसमें 65% equity, 20-25% debt मे 10-15% investment गोल्ड में किया जा सकता है। 

arbitrage fund:- इन्हें अपने कूल एसेट का कम से कम 65% इन्वेस्ट इक्विटी या इक्विटी से जुड़े साधनों में इन्वेस्ट करना होता है। 

equity savings fund:- म्यूच्यूअल फंड की यह स्कीम इक्विटी, डेट और आर्बिट्राज में इन्वेस्ट करती है इनमें कुल एसेट का कम से कम 65% शेयर में इन्वेस्ट करना होता है और 10% इन्वेस्ट डेट में करना होता है। 

advantages of hybrid mutual funds 


  1. हाइब्रिड फण्ड में आपका पैसा एक्सपीरियंस फंड मैनेजर के द्वारा उनकी पूरी टीम के साथ रिसर्च करके डायवर्सिफाई तरीके से अलग-अलग जगह थोड़ा-थोड़ा इन्वेस्टमेंट किया जाता है। यह लोग इसी काम के लिए डेडीकेट होते है। यह लोग फाइनेंस एंड इकोनॉमिक्स के एक्सपर्ट होते हैं। इनको बाजार की सही समझ होते हैं और यह हर समय बाजार की गतिविधि पर नजर बनाए रखते हैं। जिससे आपका पैसा सही जगह इन्वेस्ट होता है और आपको अच्छा खासा प्रॉफिट यानी अच्छा रिटर्न मिलता है। 
  2. हाइब्रिड फंड में इन्वेस्ट करने के लिए आपको ज्यादा पैसे की जरूरत नहीं होती है इसमें आप अपनी सुविधा के अनुसार या मंथली SIP (systematic investment plan) ले सकते हैं जो मिनिमम ₹500 से शुरू किया जाता है। 
  3. हाइब्रिड म्युचुअल फंड की द्वारा तीन तरह की ऐसेट क्लास में इन्वेस्ट किया जा सकता है इनमें इक्विटी, डेट और गोल्ड शामिल है। 
  4. मार्केट के उतार-चढ़ाव के रिस्क को देखते हुए लंबी अवधि के निवेश की सुविधा दी गई है आप ध्यान रख कर aggressive hybrid schemes में पैसा लगा सकते हैं। 
  5. जिन इन्वेस्टर को इक्विटी में निवेश करना है लेकिन रिस्क थोड़ा कम लेना है उनके लिए हाइब्रिड फंड बढ़िया साबित हो सकता है। 


मुझे उम्मीद है आपको मेरा आर्टिकल हाइब्रिड म्यूचुअल फंड क्या हैं, हाइब्रिड म्यूचुअल फंड कैसे काम करते है, हाइब्रिड फण्ड कितने टाइप के होते है, हाइब्रिड म्यूचुअल फंड के फयदे क्या है इन सब पॉइंट को पोडके समझ आयी होगी। 

अगर आपके मन मे कोई भी दुविधा है हाइब्रिड म्यूचुअल फंड क्या हैं - What are Hybrid Funds 2022 in Hindi से सम्बंधित तो आप please कमेंट करके बताये। और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों को भी जरूर share कोरे ताकि उनको भी हाइब्रिड फण्ड के बारे मे पता चले। 



Post a Comment

0 Comments