ट्रेडिंग कैसे करे - Trading Kaise Kare In Hindi

स्टॉक मार्किट में ट्रेडिंग की शुरुआत कैसे करें: शेयर मार्किट एक्टिव और पैसिव दोनों तरह की इनकम कमाने का सबसे अच्छा साधन है। अगर कोई व्यक्ति शेयर मार्किट को पार्ट टाइम में करता है और Passive Income कमाने का लक्ष्य रखता है तो वह सालाना 20 से 30% रिटर्न अपनी इन्वेस्ट की गई राशि पर कमा सकता है। और वहीं शेयर मार्किट Full Time Career की तरह लिया जाये तो अपने पैसे को डबल - ट्रिपल या इससे भी ज्यादा किया जा सकता है।    

शेयर मार्किट से पैसा कमाने के दो तरीके होते है एक ट्रेडिंग और दूसरा इन्वेस्टिंग। आज में आपको बताऊंगा की Share Market main Trading Kaise Kare. अगर आपको नहीं पता की ट्रेडिंग क्या है तो आप मेरी ये पोस्ट Trading In Hindi पढ़ सकते है।  

Trading Kaise Kare In Hindi

शेयर मार्किट में ट्रेडिंग शुरू करने के लिये Trading Account और Demat Account की जरुरत होती है। ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट को किसी भी स्टॉक ब्रोकर के पास खुलवाया जा सकता है। ट्रेडिंग अकाउंट से शेयर ख़रीदे जाते है और डीमैट अकाउंट में ख़रीदे हुये Shares को रखा जाता है।  

शेयर मार्किट में Free Earning नाम की कोई चीज़ नहीं होती है। शेयर मार्किट से पैसे कमाने के लिए कुछ पैसे आपको अपनी जेब से भी लगाने होंगे। जितने पैसे आप लगायेंगे उतने ही पैसे बदले में कमायेंगे ऐसा नहीं है की आप मार्किट में 10000 रुपये लेकर आये है और बदले में 10 लाख कमाने के सोच रहे है ऐसा करना लगभग नामुमकिन है। 

लेकिन मार्जिन लेकर 10000 रुपये से भी ट्रेडिंग की जाये तो वह लाखो रुपये के बराबर होती है। मार्जिन एक उधार होता है जो स्टॉक ब्रोकर आपको देता है। उस उधार के पैसे से आप शेयर खरीद सकते है और अगर आपको प्रॉफिट होता है तो वह पूरा प्रॉफिट आपका होता है। ब्रोकर को तो अपने उधार के पैसे वापिस चाहिये होते है उसे प्रॉफिट से कोई मतलब नहीं है।(ट्रेडिंग कैसे करे - Trading Kaise Kare In Hindi)
शेयर मार्किट में ट्रेडिंग की शुरुआत कैसे करें - STEP BY STEP PROCESS 

सबसे पहले आपको एक ब्रोकर का चुनाव करना होगा जिसके साथ आप अपना ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट ओपन करेंगे। मैं आपको सलाह दूंगा की आप डिस्काउंट ब्रोकर में अपना अकाउंट ओपन करे क्योंकि उसमें चार्जेस कम लगते है। 

ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट ओपन करने के लिये पैन कार्ड, एड्रेस प्रूफ, इनकम प्रूफ, बैंक स्टेटमेंट और पासपोर्ट साइज फोटो की जरुरत होती है। अकाउंट ओपन करते समय इन डॉक्यूमेंट को अपने साथ रखिये।

शेयर मार्किट में कई प्रकार की ट्रेडिंग होती है। जैसे: Scalping Trading, Intraday Trading, Swing Trading, Positional Trading etc. आप शेयर मार्किट से कितना कमाना चाहते है और कितना जोखिम ले सकते है उसके अनुसार अपनी ट्रेडिंग स्टाइल का चयन करना चाहिये। 

एक बार अपनी ट्रेडिंग स्टाइल का चयन कर लिया उसके बाद बारी आती है ट्रेडिंग प्लान और मनी मैनेजमेंट करने की। ट्रेडिंग प्लान में कोनसा शेयर खरीदना है, कब खरीदना है जैसी बाते शामिल होती है। और वही मनी मैनेजमेंट में कितने रुपये निवेश करने है, स्टॉपलॉस क्या होगा, टारगेट क्या होगा जैसी बातों पर ध्यान दिया जाता है। 

शेयर मार्किट में जितनी भी तरह की ट्रेडिंग होती है उसे दो भागों में बांट सकते है एक होता है Intraday Trading और दूसरा Delivery Based Trading.

Intraday Trading में शेयर को वास्तविकता में नहीं ख़रीदा जाता है बल्कि ब्रोकर को कुछ मार्जिन देकर शेयर के भाव में जो उतार - चढ़ाव आता है उसका फायदा उठाया जाता है। इंट्राडे ट्रेडिंग में ख़रीदे गये शेयर्स को जिस दिन ख़रीदा गया है उस दिन मार्किट बंद होने से पहले बेचना होता है। 

Delivery Based Trading में शेयर को असली में ख़रीदा जाता है और जितने भी शेयर ख़रीदे गये है उनका पूरा पैसा चुकाना होता है। डिलीवरी बेस्ड ट्रेडिंग में ख़रीदे गये शेयर को जब तक आपका मन हो तब तक अपने पास रख सकते है और भविष्य में जब आप चाहे तब बेच सकते है।(ट्रेडिंग कैसे करे - Trading Kaise Kare In Hindi) 

इसे भी पढ़े: क्या स्टॉक मार्किट ट्रेडिंग करना चाहिये 

Share Market Trading Tips In Hindi 

शेयर ट्रेडिंग एक व्यापार है और इसे व्यापार की तरह ही करें। 

ट्रेडिंग शुरू करने से पहले ट्रेडिंग को सीखें। चार्ट्स, इंडिकेटर, स्टॉपलॉस, टारगेट, मनी मैनेजमेंट क्या होता है इसके बारे में जान लेना चाहिये। 

एक अच्छा ट्रेडिंग प्लान बनाये और उसके अनुसार ही ट्रेडिंग करे। पहली बार में किसी का भी ट्रेडिंग प्लान सही नहीं होता है इसलिये लगातार मार्किट सीखते रहे और अपने ट्रेडिंग प्लान को इम्प्रूव करते रहे। 

मार्किट न्यूज़ को लेकर Up To Date रहें। इसलिये आप बिज़नेस न्यूज़ चैनल देख सकते है, बिज़नेस न्यूज़ पेपर पढ़ सकते है या ऑनलाइन बिज़नेस न्यूज़ पोर्टल्स को भी फॉलो कर सकते है।(ट्रेडिंग कैसे करे - Trading Kaise Kare In Hindi)

इन्हें भी पढ़े: 
Scalping Trading क्या है 
Intraday Trading क्या है 
Swing Trading क्या है 
Positional Trading क्या है  

Post a Comment

0 Comments