What Is Short Term Investment - Best Short Term Investment Plan In India

शार्ट टर्म इन्वेस्टमेंट क्या है (What Is Short Term Investment In Hindi): ऐसा निवेश जो 1 साल से कम समय के लिए किया जाता है उसे Short Term Investment कहते है। शार्ट टर्म इंवेस्टमेंट को जरुरत पढ़ने पर बहुत जल्दी कैश में कन्वर्ट किया जा सकता है। 

जैसे: अगर आप अपना पैसा फिक्स्ड डिपाजिट में इन्वेस्ट करते है तो उस पैसे को जब चाहे तब निकाल सकते है। इससे आपको बहुत ज्यादा नुक्सान नहीं होगा और उस पैसे को अपने उपयोग में ले सकते है। वह पैसा जिसकी कभी भी जरुरत पड़ सकता है उसे शार्ट टर्म के लिये इन्वेस्ट करना चाहिये।(Short Term Investment Kya Hai - Best Short Term Investment Plan In Hindi)


Short Term Investment

Best Short Term Investment Plan In India 

1. Saving Bank Account: अगर आप अपने पैसे पर बिना किसी रिस्क के 3 % से 6% तक रिटर्न कमाना चाहते है तो सेविंग अकाउंट सबसे सरल Short Term Invest Plan है। आम तौर पर सभी लोग अपना पैसा सेविंग बैंक अकाउंट में रखते है। सेविंग बैंक अकाउंट खुलवाने से पहले यह चेक कर लेना चाहिये की किस बैंक की ब्याज दर सबसे ज्यादा है। 

2. RD (Reccuring Deposit): अगर आप हर महीनें कुछ पैसे बचत करके उससे Short Term Investment करना चाहते है तो RD एक सही Option हो सकता है। RD को किसी भी बैंक या Post Office में किया जा सकता है। RD से 6 % तक सालाना रिटर्न अपने पैसे पर कमा सकते है। 

3. Fixed Deposit: फिक्स्ड डिपाजिट एक ऑल टाइम बेस्ट इन्वेस्टमेंट है। वे निवेशक जो अपने पैसे पर बिलकुल भी रिस्क नहीं लेना चाहते है और 6% से 7 % रिटर्न में खुश है उनके लिये फिक्स्ड डिपाजिट ही Best Short Term Investment Plan है। 

4. Liquid Fund: अगर आप अपने पैसे को कुछ दिनों या महीनों के लिये निवेश करना चाहते है तो लिक्विड फंड सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। लिक्विड फंड में निवेश करके 7 से 8 % तक रिटर्न कमाया जा सकता है। लिक्विड फंड में एक दिन के लिये भी निवेश किया जा सकता है। लिक्विड फंड में निवेश करने पर किसी भी तरह का चार्ज नहीं लगता है। 

5. Lump Sum Investment In Mutual Fund: Lump Sum निवेश का मतलब होता है की एक बार में बहुत सारा पैसा म्यूच्यूअल फंड में निवेश करना। शेयर मार्किट में दो तरह के म्यूच्यूअल फंड होते है एक Debt Mutual Fund दूसरा Equity Mutual Fund. 

Debt Mutual Fund अपने पैसे को लोन के रूप में आगे बांटते है और बदले में ब्याज इकट्ठा करते है। डेब्ट म्यूच्यूअल फंड में निवेश करके सालाना 8 % से 11 % तक रिटर्न कमाया जा सकता है। 

Equity Mutual Fund अपने पैसे को शेयर मार्किट में निवेश करते है और उससे कंपनियों के शेयर खरीदते है। जब शेयर की कीमत बढ़ती है तो लाभ होता है। इक्विटी म्यूच्यूअल फंड में निवेश करके सालाना 15 % से 20 % तक रिटर्न कमाया जा सकता है। 

6. Stock Market Short Term Investment: अगर आप थोड़ी सी ज्यादा रिस्क ले सकते है तो स्टॉक मार्किट सबसे अच्छा निवेश रहेगा। स्टॉक मार्किट में निवेश करके सालाना 25 से 30 % तक रिटर्न कमाया जा सकता है। शेयर मार्किट में निवेश करने के लिये Trading और Demat अकाउंट की जरुरत होती है। ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट को किसी भी ब्रोकर के पास खुलवाया जा सकता है। 

शेयर मार्किट में निवेश करने के लिये शेयर मार्किट का बेसिक नॉलेज होना जरूरी है। अगर आपके पास शेयर मार्किट का बेसिक नॉलेज नहीं है तो आप मेरी वेबसाइट के बाकि पोस्ट को पढ़ सकते है जिसमें मैंने डिटेल में शेयर मार्किट को समझाया है।(Best Short Term Investment Plan In India In Hindi)

इन्हें भी पढ़े:

शेयर मार्किट क्या है - Share Market In Hindi 
Mutual Fund In Hindi - म्यूच्यूअल फंड क्या है 
Sip Investment क्या है 
Lump Sum Investment क्या है

दोस्तों उम्मीद है की आपको यह पोस्ट What Is Short Term Investment In Hindi - Best Short Term Investment Plan In India के बारे में जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर आपका कोई सवाल है तो कमेंन्ट में बता सकते है। 

Post a Comment

0 Comments