Net Worth Meaning In Hindi - नेट वर्थ क्या होता है?

Net Worth क्या होता है - Net Worth Meaning In Hindi: दोस्तों हम अक्सर न्यूज़ में सुनते है की Mukesh Ambani की Personal Net Worth इतनी है और बिल गेट्स की नेट वर्थ इतनी है। क्या आपने कभी यह जानने की कोशिश की है की नेट वर्थ क्या है? आज आप ये पोस्ट पूरी पढ़िए में आपको बताऊंगा की नेट वर्थ क्या होता है। 

Net Worth को हिंदी में शुद्ध सम्पति कहते है। नेट वर्थ की मदद से हम यह जान सकते है की किसी व्यक्ति, कंपनी या संस्था के पास कितनी शुद्ध सम्पति है। 

Net Worth Meaning In Hindi

नेट वर्थ को ठीक से समझने के लिये आपको यह पता होना चाहिये की Asset और Liability क्या है।

Asset: वह हर वस्तु जिससे आपकी सम्पति बढ़ती है और आपकी वेल्थ को मौद्रिक मूल्य प्रदान करती है वह एसेट है जैसे: आपका घर, आपकी गाड़ी, बैंक अकाउंट में रखे पैसे, फिक्स्ड डिपाजिट या अन्य किसी भी प्रकार का इन्वेस्टमेंट जिसे आप जरुरत पड़ने पर कैश में कन्वर्ट कर सकते है वह आपके लिये Asset है। 

Liability: लायबिलिटी का अर्थ होता है देनदारी। वह खर्चा जो आपको आज या भविष्य में करना है वह आपके लिये एक Liability यानि देनदारी है जैसे: किसी भी प्रकार का लोन, क्रेडिट कार्ड का बिल, EMI बिल इत्यादि आपके लिये एक लायबिलिटी है।  

नेट वर्थ फार्मूला:-  Total Asset - Total Liability = Net Worth

अगर कुल सम्पति में से कुल लायबिलिटी को घटा दे तो जो वैल्यू निकल कर आएगी उसे Net Worth कहा जाता है। Net Worth हमेशा एक जैसी नहीं रहती है यह वक़्त के साथ बदलती रहती है। Net Worth पॉजिटिव (+) और नेगेटिव (-) दोनों हो सकती है। अगर सम्पति ज्यादा है देनदारी से तो इसका अर्थ है नेट वर्थ पॉजिटिव में है और अगर देनदारी ज्यादा है सम्पति की तुलना में तो नेट वर्थ नेगेटिव में है।(Net Worth Meaning In Hindi)
Net Worth का महत्व 

Net Worth किसी भी व्यक्ति, कंपनी या संस्था की फाइनेंसियल मजबूती को दिखाता है। अगर आपको अपनी Net Worth के बारे में पता है तो अपनी Financial Planning सम्बंधित निर्णय सही से ले पाएंगे। इसके अलावा आपको किसी कंपनी की Net Worth के बारे में जानकारी है तो निवेश सम्बंधित निर्णय सही से ले पाएंगे। 

अगर आपको अपनी नेट वर्थ के बारे में नहीं पता है तो आप अपनी फाइनेंसियल प्लानिंग ठीक से नहीं कर पाएंगे और पैसे खर्च करने सम्बंधित कुछ ऐसे निर्णय ले लेंगे जिससे भविष्य में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। 


उदाहरण के लिये मान लीजिये आप महीने का 50000 हज़ार रुपये कमाते है और आप लोन लेकर 10 लाख रुपये वाली गाड़ी खरीद लेते है यह सोच कर की हर महीने क़िस्त भर पर पैसा चूका देंगे। लेकिन पैसा चुकाने से पहले ही आपकी नौकरी चली जाती है तो ऐसी कंडीशन में पैसा न चूका पाने की वजह से आप दिक्कत में आ सकते है। जिस बैंक से आपने लोन लिया है वह आप पर केस कर सकती है और गाड़ी जब्त भी कर सकती है। और यह सब आपके साथ केवल इसलिये होगा क्योंकि आपको अपनी नेट वर्थ के बारे में नहीं पता था और अपनी फाइनेंसियल कैपेबिलिटी से बाहर जाकर गाड़ी खरीदी। और यही अगर आपको अपनी फाइनेंसियल कैपेबिलिटी और नेट वर्थ के बारे में पता होता तो आप 3 से 4 लाख रुपये वाली गाड़ी खरीदते ना की 10 लाख रुपये वाली गाड़ी खरीदते।
(Net Worth Meaning In Hindi - नेट वर्थ क्या होता है?)

इसे भी पढ़े: निवेश इन्वेस्टमेंट कहाँ करना चाहिये 

Net Worth के सम्बन्ध में ध्यान रखने वाली बातें 

अपनी या किसी और की नेट वर्थ निकालना बहुत ही आसान है पहले आपको एक लिस्ट बनानी होगी जिसमें सभी सम्पतियो की जानकारी हो और उसके बाद एक और लिस्ट बनाएं जिसमें सभी दाइत्वों (लिबिलिटी) की जानकारी हो उसके बाद कुल सम्पति में से कुल दाइत्व (लायबिलिटी) को घटा दें। इस प्रकार आप अपना या किसी कंपनी का नेट वर्थ कैलकुलेशन कर सकते है। 

नेटवर्थ वर्तमान में किसी व्यक्ति या संस्था के पास कुल कितनी सम्पति है उसकी जानकारी देता है। नेटवर्थ हमेशा एक जितना नहीं रहता है यह समय के साथ कम या ज्यादा होता रहता है। भविष्य में सम्पति या कर्ज बढ़ने पर नेट वर्थ कम ज्यादा होती है।(What Is Net Worth In Hindi) 

इसे भी पढ़े:


उम्मीद है की Net Worth क्या है - Net Worth In Hindi आपको समझ आया होगा। अगर पसंद आया तो इसे आगे शेयर जरूर करें।

Post a Comment

0 Comments