SIP क्या है - What Is Sip Meaning In hindi

What Is SIP In Hindi - Sip Investment In Hindi

आपने टीवी पर एक विज्ञापन जरूर देखा होगा Mutual Fund SIP सही है जिसकी वजह से बहुत सारे लोग जानना चाहते है की Sip Kya Hai और Sip Main Nivesh Kaise Kare आज आप ये पोस्ट पूरी पढ़िये मैं आपको बताऊंगा की SIP क्या है और SIP में निवेश कैसे करे? Sip Investment Kya Hai - What Is Sip Investment In Hindi.

SIP क्या है: Sip का Full Form Systematic Investment Plan होता है SIP को हिंदी में व्यवस्थित निवेश योजना कहते है। जब कोई व्यक्ति हर हफ्ते, हर महीने या हर तीन महीने में एक निश्चित राशि Mutual Fund में निवेश करता है तो इसे Mutual Fund में SIP करना कहते है। 

SIP सिर्फ Mutual Fund में नहीं की जाती है बल्कि हर महीने एक निश्चित राशि शेयर मार्किट में लगाकर शेयर खरीदकर रखते है तो इसे भी SIP यानि Systematic Investment Plan कहेंगे।SIP मनी सेविंग करने का सबसे कारगर तरीका है जिससे हर महीने एक निश्चित राशि सेव कर निवेश की जाती है, Mutual Fund में निवेश 500 रुपये महीने से भी शुरू किया जा सकता है। 

जानिए: Mutual Fund क्या होता है Full Detail Guide 

What Is SIP In Hindi

SIP Investments Benefits In Hindi (SIP में निवेश फायदे)


1. छोटी राशि का निवेश: SIP 500 रुपये महीने की एक छोटी सी राशि से भी शुरू की जा सकती है यह बचत करने का सबसे सरल तरीका है।  

2. SIP से पैसे Withdraw करने की सुविधा: Mutual Fund Sip में निवेश किया हुआ पैसा आप किसी भी समय निकाल सकते है क्योंकि ज्यादातर म्यूच्यूअल फंड्स में कोई Lock In Period नहीं होता है। 

3. Power of Compounding: SIP से पैसे निवेश करने पर जो लाभ होता है वह लाभ वापिस आपके द्वारा निवेश किये हुये मूल राशि में जुड़ जाता है और अगली बार आपको आपकी कुल राशि पर लाभ मिलता है जिससे समय के साथ आपका पैसा तेज़ी से बढ़ता है और इसे ही पावर ऑफ़ कम्पाउंडिंग कहते है।

4. टैक्स में छूट मिलना: Mutual Fund में लम्बे समय तक SIP के माध्यम से निवेश करने पर कई प्रकार की टैक्स छूट मिलती है। 


5. Easy To Invest: म्यूच्यूअल फंड में SIP शुरू करना बहुत ही आसान है यह स्टॉक मार्किट की तरह कठिन नहीं है और इसमें जोखिम भी कम है।(Sip Kya Hai - Sip In Hindi)

SIP में निवेश कैसे करे (How To Start Sip Investment)

SIP में निवेश की शुरुआत 3 STEP में की जा सकती है 

1. Mutual Fund का चयन: अपने फाइनेंसियल लक्ष्य और जोखिम लेने की क्षमता के अनुसार म्यूच्यूअल फंड का चयन करें।

2. कागज़ी कार्यवाही पूरी करें: जिस भी Mutual Fund में निवेश करना चाहते है उसके साथ e-kyc कम्पलीट करे और Basic Document जैसे: Pan Card, Aadhar Card वेरीफाई करवाये।  

3. प्लानिंग: Account Open होने के बाद आपको यह निर्णय लेना होगा की चुने गये म्यूच्यूअल फंड में कितनी राशि हर महीने और कितने साल के लिये निवेश करना चाहते है और उसके हिसाब से अपनी SIP शुरू करिये। 


SIP में निवेश करने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें - 

SIP शुरू करने से पहले AMC (Asset Management Company) जो की म्यूच्यूअल फंड को हैंडल करती है उसे यह बताना होता है की आप यह SIP कितने महिने या साल के लिए करना चाहते है उतने महीने या साल तक हर महीने एक पहले से निर्धारित की हुई राशि आपके बैंक अकाउंट से कटती रहती है।

SIP हमेशा लम्बी अवधि के लिए करनी चाहिये क्योंकि लम्बी अवधी की SIP से Power of Compounding का लाभ मिलता है और जब भी SIP बंद करनी हो तो अपने Mutual Fund Provider को बताकर SIP बंद की जा सकती है SIP बंद करने के बाद निवेश किये हुये सभी पैसे बैंक अकाउंट में क्रेडिट हो जाते है। (What Is SIP In hindi)

क्या SIP करना सही है

जी हां बिलकुल SIP करनी चाहिए, सभी लोगों को हर महीने अपनी सैलरी का एक छोटा सा हिस्सा SIP के जरिये Share Market में निवेश करना चाहिये। SIP में निवेश कम से कम 5 साल के लिये करना चाहिये क्योंकि SIP कोई रातो - रात अमीर बनाने वाली स्कीम नहीं है बल्कि इसकी मदद आप अपने Long Term Goals जैसे: घर लेना, बच्चो की शादी, बच्चों की पढाई, रिटायरमेंट प्लानिंग को पूरा कर सकते है। (सिप क्या होती है - SIP Ka Hindi Meaning)

इन्हें भी पढ़े:
स्टॉक मार्केट क्या होता है?
ट्रेडिंग क्या होता है ट्रेडिंग कैसे शुरू करें ?
Share Market Se Paise Kaise Kamaye
Nifty और Sensex क्या है

मैं उम्मीद करता हु आपको समझ आया होगा की SIP क्या है और SIP में निवेश कैसे करे? अगर अभी भी आपका कोई सवाल है What Is Sip In Hindi - How To Start Investing In SIP  से जुड़ा हुआ तो कमेंट करके पूछ सकते है। 

Post a Comment

0 Comments