Intraday Trading क्या है - Intraday Trading In Hindi

नमस्कार दोस्तों आज मैं आपको बताऊंगा की इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है (What Is Intraday Trading In Hindi) बहुत सारे लोग Stock Market में Intraday Trading करना चाहते है लेकिन यह नहीं जानते है की Intraday Trading क्या है Intraday Trading Kya Hai. 

99% ट्रेडर जो Day trading (डे ट्रेडिंग) करते है वह अपना पैसा डूबा देते है क्योंकि उन्हें पूरा ज्ञान नहीं होता है की What Is Day Trading In Hindi और डे ट्रेडिंग कैसे करे तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़िए आज मैं आपको बताऊंगा की इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होती है - What Is Intraday Trading In Share Market.


इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको इन सभी सवालों का जवाब मिल जायेगा।


Intraday Trading क्या है ?
कैसे शुरू कर सकते हैं डे-ट्रेडिंग ?
इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करे ?
इंट्राडे ट्रेडिंग जोख़िम और फ़ायदे 
Intraday Trading Tips In Hindi 

इंट्रा डे ट्रेडिंग क्या है



इंट्रा डे ट्रेडिंग क्या है - What Is Intraday Trading In Hindi


इंट्राडे ट्रेडिंग क्या होती है (Intraday Meaning In Hindi): किसी शेयर को 1 Trading Day के अंदर खरीद कर बेच देने को Intraday Trading कहते है Intraday Trading के अंदर शेयर को स्टॉक मार्किट ओपन होने के बाद से लेकर कुछ घंटो तक रखकर या मार्किट बंद होने से पहले बेच दिया जाता है इसमें एक ट्रेडिंग डे के अंदर जो मूवमेंट आते है उनका फायदा उठाया जाता है और प्रॉफिट कमाया जाता है 

इंट्राडे ट्रेडिंग शेयर मार्किट की सबसे लोकप्रिय Trading Style है क्योंकि इसमें कम पैसों की जरुरत होती है और जल्दी प्रॉफिट होता है इंट्राडे ट्रेडिंग 1000 रुपये से भी कर सकते है Intraday Trading में 100 गुना तक मार्जिन भी मिल जाता है जिसका अर्थ है 1000 रुपये अपनी जेब से लगाकर 1 लाख तक के शेयर खरीद सकते है 

इंट्राडे ट्रेडिंग में सुबह 9:15 बजे से लेकर दोपहर 3:30 बजे तक कभी भी शेयर को खरीद या बेच सकते है अगर किसी कारण से ख़रीदे हुए शेयर्स को 3:30 बजे तक नहीं बेच पाये तो ब्रोकर उसे अपने आप बेच देता है यानि वह ट्रेड Auto Square Off हो जाता है  

कैसे शुरू कर सकते हैं डे-ट्रेडिंग - How To Start Day Trading 

How To Start Intra day Trading In India: इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए किसी भी ब्रोकर के पास Trading Account Open करवाना होता है उसके बाद अकाउंट में पैसे ऐड करके ट्रेडिंग शुरू की जा सकती है Intraday Trading के लिए डीमैट अकाउंट की आवश्यकता नहीं होती है। 

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करे - Intraday Trading Kaise Kare 

High liquidity Share: High liquidity Share को चुने और उसमें निवेश करें ये वे शेयर होते है जिनमें बहुत ज्यादा खरीदी - बिक्री होती है जैसे: निफ़्टी50 के सभी स्टॉक High liquid Stock होते है 

Volatility: ऐसे Shares को चुने जिनमें पर्याप्त वोलेटिलिटी हो अगर शेयर में 
वोलेटिलिटी नहीं होगी तो वह शेयर मूवमेंट ही नहीं करेंगे। मैं ऐसे शेयर्स को चुनता हूँ जिनमें ब्रेकआउट होने वाला हो या हो चुका हो ब्रेकआउट दे चुके Shares में वोलेटिलिटी होती है। 

Risk Management: Intraday Trading में रिस्क को मैनेज करना जरूरी है किसी एक ट्रेड में अपने कैपिटल पर 2% से ज्यादा Risk नहीं लेना चाहिए और Risk To Reward 1:2 से कम नहीं होना चाहिए। 

Trend: Open Price, Close Price, चार्ट पैटर्न, रेंज, इंडिकेटर आदि की सहायता से ट्रेंड का पता लगाये और जिस दिशा में ट्रेंड दिखा रहा है उसी दिशा में ट्रेड लें।  

इंट्राडे ट्रेडिंग जोख़िम और फ़ायदे - Intraday Trading Risk And Benefits

Daily P&L: Intraday Trading में रोज़ का लाभ या हानि होता है अगर किसी दिन आपको नुकसान हुआ है तो अगले दिन एक नई रणनीती के साथ एक नई शुरुआत कर सकते है। 

Margin: मार्जिन एक तरह का उधार होता है जो ब्रोकर आपको ट्रेड करने के लिए देता है अगर आपके पास 1 रूपया है तो आप 50 रुपये तक के शेयर खरीद सकते है बाकि के 49 रुपये ब्रोकर देता है ब्रोकर को आपके प्रॉफिट या नुकसान से कोई मतलब नहीं होता है उसे मार्किट बंद होने से पहले अपना पैसा वापिस चाहिए होता है मार्जिन सोच - समझकर लेना चाहिए। 

Short Selling: आम तौर पर ट्रेडर किसी शेयर को कम कीमत पर खरीदते है और जब उस शेयर की कीमत बढ़ जाये उसे बेच कर पैसा कमा लिया जाता है लेकिन Intraday Trading में एक सुविधा मिलती है जिसे Short Selling कहते है शार्ट सेलिंग में गिरते हुये शेयर से भी पैसे कमाये जाते है। शार्ट सेलिंग किये हुये शेयर्स को मार्किट बंद होने से पहले खरीदना होता है वर्ना Penalty देनी पड़ती है।   

Intraday Trading Tips In Hindi
  1. इंट्राडे ट्रेडिंग में नुकसान होने की सबसे बड़ी वजह है लालच और डर इसलिए इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए एक ट्रेडिंग प्लान बनाकर बहुत सारे अनुशासन के साथ ट्रेड करने की आवश्यकता होती है। 
  2. स्टॉक मार्किट में एक कहावत है Trend Is Your Friend ट्रेंड के साथ Trade करे कभी भी ट्रेंड के विपरीत ट्रेड न ले। 
  3. Market Order की जगह पर Limit आर्डर पर Buy Sell करें। 
  4. Stop loss और Target जरूर लगाये स्टॉपलॉस लोस्स को बढ़ने से रोकता है और टारगेट प्रॉफिट को सुरक्षित रखता है। 
  5. अपने एनालिसिस पर भरोशा रखें। अफवाहों के आधार पर खरीदी-बिक्री न करें। 
  6. जोख़िम लेने की क्षमता से ज्यादा मार्जिन न ले क्योंकि मार्जिन एक ही बार में आपकी पूंजी खत्म कर सकता है। 
  7. मार्किट बंद होने से पहले अपने लोस्स या प्रॉफिट को बुक कर लेना चाहिए कभी भी अपने Intraday Trade को Overnight Carry नहीं करना चाहिए। 
  8. Intraday Trading एक दिन में बहुत सारे पैसे कमाने की कोई स्कीम नहीं है Share Market Trading एक बिज़नेस है इसे बिज़नेस की तरह ही करें। ट्रेडिंग को लगातार सीखते रहे।
इन्हें भी पढ़े:

Share Market Se Paise Kaise Kamaye In Hindi
स्टॉक मार्किट ट्रेडिंग क्या होता है ट्रेडिंग कैसे शुरू करें ?
Is Stock Trading Profitable?
10 Types Of Stock Trading In HIndi
टेक्निकल एनालिसिस क्या होता है ?

उम्मीद करता हु आपको मेरा यह आर्टिकल Intraday Trading क्या है - Intraday Trading In Hindi समझ आया होगा अगर अभी भी आपका कोई सवाल है इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है (What Is Intraday Trading In Hindi) या Stock Market Intraday Trading For Beginners India से रिलेटेड तो कमेंट करके पूछ सकते है। 

Post a comment

0 Comments