फंडामेंटल एनालिसिस कैसे करे ? How To Do Fundamental Analysis Of Stock Full Guide

क्या आप जानना चाहते है की किसी स्टॉक का फंडामेंटल एनालिसिस कैसे करते है आप मेरी ये पोस्ट पूरी पढ़िए आज में आपको कुछ Fundamental Analysis Tools के बारे में बताऊंगा जिससे यह जान पाएंगे की किसी Stocks का Fundamental Analysis कैसे करें - How To Do Fundamental Analysis Of Stock In Hindi. 

What Is Fundamental Analysis: Stock Market में किसी भी कंपनी में Long Term Investment करने से पहले उसका फंडामेंटल एनालिसिस करना चाहिए क्योंकि फंडामेंटल एनालिसिस हमें यह बताता है की कंपनी का स्वास्थ्य कैसा है Company Profit में है या Loss में और कंपनी पर कर्ज कितना है Long Term में Company कैसा Perform करेगी यह सब पता करने के लिए Share का Fundamental Analysis करना जरूरी होता है।


Fundamental Analysis क्या होता है इस पर मैंने Detail में एक Article लिखा है उसे जरूर पढ़िये।
     
How To Do Fundamental Analysis Of Stock

Fundamental Analysis करने के पीछे का मुख्य कारण किसी Stock की Intrinsic Value पता करना होता है। Intrinsic Value किसी Stock की वह Value होती है जो बताती है की Share Undervalued है, Overvalued है या Fair Valued है।


How To Do Fundamental Analysis Of Stock

Share Market में निवेश करने का एक ही लॉजिक होता है की कम में खरीदो और ज्यादा में बेचो, और कम में खरीद कर ज्यादा में बेचने के लिए किसी Share की Intrinsic Value यानि वास्तविक मूल्य पता होना चाहिए जिस पर शेयर ख़रीदा जा सके।

आज में आपको 10 Fundamental Analysis Tools के बारे में बताऊंगा जिसका एनालिसिस करके किसी भी Share का वास्तविक मूल्य का पता लगाया जा सकता है तो चलिए जानते है फंडामेंटल एनालिसिस कैसे करे? How To Do Fundamental Analysis On Stocks? Fundamental Analysis Kaise Kare Full Guide.


Fundamental Analysis Tools


Fundamental Analysis Of A Stock : Stock Fundamental Analysis in Hindi

1. Annual Report

सभी कम्पनिया Business Year के अंत में एक वार्षिक रिपोर्ट जारी करती है जिसमें कंपनी अपने बिज़नेस के बारे में Detail से Explain करती है। "Annual Report" Fundamental Analysis का सबसे Important Tool है किसी भी Company का शेयर खरीदने से पहले उस कंपनी के लास्ट ईयर की वार्षिक रिपोर्ट जरूर पढ़नी चाहिये। कंपनी की Annual Report कंपनी की वेबसाइट से या Screener.in वेबसाइट से भी डाउनलोड कर सकते है।  

2. Balance Sheet 

Fundamental Analysis का First Step है जिस कंपनी का वह शेयर है उस Company की Balance Sheet को अच्छे से analyse करना जो की किसी भी शेयर की वास्तविक कीमत का पता लगाने के लिए जरूरी होता है। Balance Sheet से हमें यह पता चलता है की कंपनी का फाइनेंसियल हेल्थ और स्टेबिलिटी कैसा है कंपनी के पास कुल सम्पति और कंपनी पर कुल दाईत्व (कर्ज) कितना है

3. P&L Account

Company का Business कैसा चल रहा है कंपनी अपने Operations से कितना Profit या Loss Generate कर रही है ये Profit And Loss Account से पता चलता है। एक निश्चित समय में कंपनी को कितना प्रॉफिट हुआ या लोस्स, कंपनी Upward Growth कर रही है या Downward, यह जानने के लिए P&L Account को analyse किया जाता है।   

4. Cash Flow Statement

Cash Flow Statement में कंपनी के वित्तीय लेनदेन का पूरा विवरण होता है इसे पढ़ने से पता चलता है की कंपनी के अंदर आये हुए सभी नकद पैसो और कंपनी से बाहर गये हुये सभी नकद पैसो की जानकारी दी हुई होती है। आसान भाषा में कंपनी अपना पैसा कहां से कमा रही है और कंपनी अपना पैसा कहां खर्च कर रही है यह पूरी जानकारी Cash Flow Statement में दी हुई होती है।

अधिक जानकारी के लिए इस Post को पढ़े - कैश फ्लो स्टेटमेंट क्या होता है 

5. Financial Ratio 

किसी भी कंपनी की फाइनेंसियल हेल्थ को मापने के लिए कुछ फाइनेंसियल रेश्यो का प्रयोग किया जाता है जैसे: Price To Earning Ratio, Price To Book Value Ratio, EPS, Price To Sales Ratio etc वित्तीय अनुपात की लिस्ट बहुत लंबी है आज कुछ जरूरी फाइनेंसियल रेश्यो के बारे में मैं आपको बताऊंगा।

6. PE Ratio

Price To Equity Ratio सबसे महत्वपूर्ण रेश्यो होता है शेयर Premium Price पर ट्रेड कर रहा है या Discount Price पर यह जानने के लिए इस रेश्यो का Analysis किया जाता है PE Ratio बताता है की कोई Stock कैसा Perform कर रहा है PE Ratio की मदद से किसी स्टॉक का Future Price Calculate किया जा सकता है। 


PE Ratio Formula = Current Price of Share / EPS (Earning Per Share) 

Company के PE Ratio को पूरी Industry के PE Ratio से Compare किया जाता है अगर कंपनी का PE रेश्यो इंडस्ट्री के PE रेश्यो से कम या ज्यादा आता है तो उसका आंकलन किया जाता है की ऐसा क्यों है और उस आधार पर तय किया जाता है की वह स्टॉक Overvalued है या Undervalued.

7. EPS Earning Per Share

कोई कंपनी अपने एक शेयर पर कितना लाभ कमाती है यह EPS (Earning Per Share) से पता चलता है। किसी भी कंपनी का Share Buy करने से पहले उसका EPS जान लेना चाहिये। EPS के माध्यम से हम यह जान सकते है की कंपनी Market में कैसा प्रदर्शन कर रही है। 


Earning Per Share Formula = Net Profit / Shares Outstanding


8. Book Value

सभी शेयर्स आम तौर पर Premium पर ट्रेड होते है जबकि Book Value किसी कंपनी के Share की वह Value होती है जो उस शेयर को एक निश्चित समय के बाद बेचने पर मिल सके। दूसरे शब्दों में बुक वैल्यू किसी भी कंपनी के शेयर की वह वास्तविक कीमत होती है जो किसी भी दिन उस कंपनी के सभी Asset को बेचकर शेयर धारको को दी जा सकती है।

9. ROCE Return On Capital Employed

एक कंपनी ने अपने व्यापार को चलाने के लिए कुल कितनी पूंजी लगाई हुई है उस पूंजी पर व्यापार ने कितना लाभ कमाया है उसे निकालने के लिए Return On Capital Employed का उपयोग किया जाता है कुल पूंजी का अर्थ होता है कंपनी के Promoter द्वारा लगाई हुई पूंजी + बाजार से लिया हुआ Loan / Liabilities. 


ROCE Formula = EBIT / Total Capital Employed

EBIT = Net Profit + Interest + Tax
Total Capital Employed = Share Holders Equity + Long Term Debt 

10. Profit And Sales Growth


निवेश करने से पहले कंपनी की Profitability और कंपनी क्या प्रोडक्ट बनाती है और उसकी Sales  Growth कितनी है उसको Analyse जरूर करना चाहिए। कई बार कंपनी की Sales तो Increase होती है लेकिन उससे कंपनी के Profit पर ज्यादा Impact नहीं पड़ता है ऐसी कंपनिया बहुत तरह के Problems से घिरी हुई हो सकती है उसका एनालिसिस जरूर करना चाहिए। 

किसी भी कंपनी में निवेश करने से पहले ये सवाल जरूर पूछिए -

  • क्या कंपनी लगातार Profit कमा रही है?
  • क्या कंपनी की Sales लगातार बढ़ रही है या नहीं?
  • क्या कंपनी अपने Operations से इतना प्रॉफिट कमा पा रही है जिससे की वह Business को चला सके?
  • कंपनी के ऊपर कितना कर्ज है और क्या कंपनी समय पर अपना कर्ज चूका रही है?
  • क्या कंपनी अपने Competitors की तुलना में अच्छा प्रदर्शन कर रही है?
  • क्या इस Share में लंबे समय के लिए Investment करना सही रहेगा?
  • क्या कंपनी का मैनेजमेंट ईमानदार है कहीं कंपनी के प्रमोटर Shareholders से कोई बात छिपा तो नहीं रहे?
इससे सम्बंधित आर्टिकल इन्हें भी पढ़े: 

Post a Comment

1 Comments

  1. Really very helpful for me and my future thank you so much bro & sir

    ReplyDelete

thank you for your enquiry we will get back to you as soon as possible